Home Festivals सक्सेस होना है तो इन तरीको से करें पर्सनालिटी को डेवलप | Personality Development Tips

सक्सेस होना है तो इन तरीको से करें पर्सनालिटी को डेवलप | Personality Development Tips

Best Personality Development Tips For Success In Hindi

by Vishal Ghosh
सक्सेस होना है तो इन तरीको से करें पर्सनालिटी को डेवलप

Contents

Best Personality Development Tips For Success In Hindi : किसी भी व्यक्ति के विकास में उसके व्यक्तित्व की अहम भूमिका होती है। “व्यक्तित्व विकास” (Personality Development) के बारे में आपने आपने कई जगह सुना, पढ़ा होगा। यह एक ऐसा गुण है जिसे विकसित किया जा सकता है। आज व्यक्ति को हर समय स्मार्ट और सुलझा रहने की जरूरत हैं। आज सफलता सिर्फ इस बात पर निर्धारित नहीं है की आप अपने काम में कितना प्रयास करते हैं बल्कि यह बात भी महत्वपूर्ण है की आपने अपने व्यक्तिव का कितना विकास किया है।

आज की लाइफ में कामियाबी इन सवालों पर डिपेंड करती है की आप क्या सोचते हैं ? क्या बोलते हैं ? कैसे दिखते हैं ? आप किस तरह से अपने आपको प्रेजेंट करते हैं ? व्यक्तित्व विकास द्वारा न सिर्फ आप अपने आप को कामियाबी के लायक बनाते हैं वरन एक बेहतर व्यक्ति के रूप में भी सम्मान पाते हैं। वैसे तो कई personality development course चलते हैं, व्यक्ति विकास के लिए कई बुक्स भी मिलती हैं। लेकिन Personality Development के इस लेख में मैं आपके लिए व्यक्तित्व विकास के तरीकों का निचोड़ लेकर आया हूँ। यह टिप्स आसान और बहुत उपयोगी हैं। तो चलिए जानते हैं व्यक्तित्व विकास करने के कुछ तरीकों को जिससे आप एक अच्छे व्यक्तित्व को प्राप्त कर पाएंगे।

व्यक्तित्व विकास” के इस लेख में आपको इन सवालों के जबाब मिलेंगे –

  1. “व्यक्तित्व विकास “पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्या है ?
  2. पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्यों जरूरी है ?
  3. क्या पर्सनालिटी डेवलपमेंट को विकसित किया जा सकता है ?
  4. पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करें ?

“व्यक्तित्व विकास” क्या है ? What is “Personality Development”?

व्यक्तिगत विकास यानि अपने आप में निवेश करना। खुद को बेहतर बनाने के लिए काम करना जिससे आप अपने आपको प्रभावी रूप से प्रबंधित कर सकें। व्यक्ति विकास का अर्थ हैं अपनी सोच, अपने व्यवहार, अपने दृष्टिकोण और अपने चरित्र को विकसित करना। जिससे व्यक्ति न सिर्फ सफलता के शिखर पर पहुंचता है बल्कि समाज में इज्जत भी पाता है।

पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्यों जरूरी है ? Why is Personality Development Important?

जब भी किसी व्यक्ति की बात की जाती है तो उसके व्यक्तित्व की बात जरूर  होती है। व्यक्ति की महत्वता उसके व्यक्ति के कारण ही जानी जाती है। व्यक्तित्व विकास द्वारा आप अपनी क्षमताओं का निर्माण करते हैं, आप अपनी प्रतिभाओं को व्यक्त कर सकते हैं। व्यक्तित्व विकास द्वारा आप आप अपनी कमज़ोरियों का पहचान उन्हें ताकत में बदल सकते हैं।

पर्सनालिटी डेवलपमेंट के लाभ ! Benefits of personality development !

  • व्यक्तित्व विकास द्वारा आप सम्मान पाते हैं।
  • व्यक्तित्व विकास द्वारा आप अपने गुणों को पहचानते हैं।
  • व्यक्तित्व विकास द्वारा आप स्वतंत्र रूप से सोचते हैं।
  • व्यक्तित्व विकास द्वारा आप सही निर्णेय के लिए स्वतंत्र महसूस करते हैं।
  • व्यक्तित्व विकास द्वारा आपमें जीतने वाला गुण विकसित होता है।
  • व्यक्तित्व विकास द्वारा आपमें आत्मविश्वास आता है।
  • व्यक्तित्व विकास द्वारा आप अधिक सजग रहते हैं।
  • व्यक्तित्व विकास आपको आश्वस्त रूप से और सटीक रूप से संवाद करने में सहायता करता है।
  • व्यक्तित्व विकास द्वारा आप लीडर के रूप में उभरते हैं।
  • व्यक्तित्व विकास द्वारा आपके सहकर्मी, साथी और लोग आपको पसंद करते हैं।

क्या पर्सनालिटी डेवलपमेंट को विकसित किया जा सकता है ? Can personality development be developed?

जी हाँ हर कोई अपने व्यक्ति का विकास कर सकता हैं. बस कड़ी मेहनत, धैर्य और साहस के साथ बस एक Personal Development Plan बनाने के जरूरत है।

personality development

personality development

पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करें ? How Can Develop the Personality ?

जब व्यक्तित्व विकास की बात आती है तो कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं होता है। इसे आप जितनी जल्दी समझ लें, आपके लिए उतना ही अच्छा है। इस बारे में सोचें कि व्यक्तित्व कैसे विकसित किया जाए, एक योजना तैयार करें, एक लक्ष्य निर्धारित करें और हर दिन उस पर काम करें।

आप अपने व्यक्ति का विकास कैसे करें ? इस सवाल के जबाब के लिए मैं यहाँ व्यक्ति विकास के लिए कुछ टिप्स दे रहा हूँ, जिससे आप अपनी पर्सनालिटी को डेवेलोप कर सकते हैं और अपने सपनो की दुनियाँ जी सकते हैं। चलिए जानते हैं टिप्स फॉर पर्सनालिटी डेवलप इन हिंदी –

पर्सनालिटी को डेवलप करने के टिप्स
Best Personality Development Tips In Hindi

आप अपने व्यक्तित्व का विकास करने जा रहे हैं इस बात के लिए मानसिक और शारारिक रुप से तैयार रहें। चलिए व्यक्तित्व के विकास के लिए कुछ महत्वपूर्ण सुझावों को जानते हैं और इन्हें अमल में लाते हैं –

Personality Development Tips For Value of Time

1. समय के महत्व को समझें ! Understand the importance of time !

कहा जाता है की Time is Money लेकिन समय पैसे से भी ज्यादा Important है। पर्सनालिटी डेवलपमेंट की पहली टिप्स यही है की समय की महत्वता को समझें पर काम समय पर करें। इसके लिए Time Management (समय का सही उपयोग करना) की रणनीति का पालन करें।

सभी के पास समय समान होता है, पर कुछ लोग समय के महत्त्व को जानते हैं। समय का सदुपयोग करना हमारे कार्यस्थल और बाहर के काम दोनों में आवश्यक है। समय एक मूल्यवान संसाधन है इसलिए समय को बिलकुल भी बर्बाद न करें। खाली समय का सदुपयोग करें।

2. अपने कम्फर्ट जोन से बाहर आएं ! Leave your comfort zone !

व्यक्तित्व विकास की दूसरी टिप्स है ‘अपने कम्फर्ट जोन से बाहर आएं’ यानि अपने आराम क्षेत्र से बाहर निकलें। दोस्तों  वही आगे बढ़ता है जो कम्फर्ट जोन से परे है। क्योंकि कम्फर्ट जोन सफलता का दुश्मन है। जब आप अपने कम्फर्ट जोन से बाहर आते हैं तो विचारों में स्वतंत्रा आती है। इसलिए अपने बनाये खोल से बाहर आएं और नई चुनौतियों को स्वीकार करें। अलग अलग लोगों से मिलें, नई नई चुनौतियों को स्वीकार करें, खुद को खोजने का मौका कभी मत चूकें।

3. अपनी बॉडी लैंग्वेज में सुधार करें ! Improve your body language !

जिस तरह आपके मुंह से निकली बात का महत्त्व होता है उसी तरह आपके शारारिक हाव भाव भी आपके व्यक्तिगत विकास को दर्शाता है। आपकी बॉडी लैंग्वेज आपके बारे में बहुत कुछ बताती है, जिसका लोगों पर बहुत प्रभाव पड़ता है। आप किस तरह बात करते हैं, चलते हैं, काम करते हैं यह लोगों पर आपके प्रति प्रभाव डालता है। सही बॉडी लैंग्वेज आपके व्यक्तित्व में चमत्कार कर सकती है।

आप खुद को कैसे पेश करते हैं, आपके किस प्रकार के हाव भाव हैं, आपके तौर-तरीके, आचरण और यहां तक कि आप कैसे सांस लेते हैं। यह सब व्यक्तित्व विकास के शारारिक भाषा में आते हैं। बॉडी लैंग्वेज में सुधार के लिए आप प्रतिदिन व्यायाम की आदत डालें। अपने बोलने, खाने, हॅसने, चलने, बात करने, बैठने, के तरीकों में सुधार करें। आप अपने चेहरे के भाव हमेशा खुशनुमा रखें। जब भी किसी से बात करें आँखे मिलाकर करें।

Body Language को Improve करने के कुछ टिप्स
  • हमेशा जागरूक रहें। आप जो भी करते हैं उसपर ध्यान दें।
  • उन लोगों को देखें जिनकी लोग प्रशंसा करते हैं, जो समाज में इज्जत पाते हैं। उनके हाव हाव और ड्रेसिंग सेंस को देखें।
  • आंखें आत्मा के लिए खिड़कियां हैं। किसी से बात करते समय अपनी आखों को इधर उधर न चलाएं, बल्कि सामने वाले से आखें मिलकार बात करें।
  • अपने चेहरे पर तनाव न आने दें। अपने कन्धों को जकड़ कर न रहें।
  • अपनी बॉडी को रिलेक्स मोड पर रखें।
  • झुक कर न बैठे, बल्कि सीधे बैठें।
  • न तो बहुत जल्दी जल्दी बोलें और न ही बहुत धीरे धीरे इसकी प्प्रैक्टिस करें।
  • आवाज़ को वॉल्यूम इतना रखें की सामने वाले को सुनाई दें। ज्यादा जोर से भी न बोलें। इसकी प्रैक्टिस करें।
  • बात करते समय हाथों को इधर उधर न फेंके।
  • कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए मिरर में देख कर खुद से बात करें।
पर्सनालिटी डेवलपमेंट में बॉडी लैंग्वेज के कुछ टिप्स ! SOME TIPS ON BODY LANGUAGE IN PERSONALITY DEVELOPMENT!
  • किसी से बात करते समय सामने वाले की आँखों में देखें।
  • अपने कंधो पर भार न डालें, यानि रिलेक्स रहें।
  • तनावमुक्त रहें और धीरे-धीरे और शांति से चलें।
  • किसी से बात करते समय अपने हाथों को आपस में न रगड़े।
  • जब बैठें हों तो अपने पैरों को मत हिलाएं।
  • जब बैठें हो तो कंधों को थोड़ा उठाकर और पीठ को हल्का झुका कर बैठे।
  • किसी से बात करते समय बातों के हिसाब से अपने चेहरे पर मुस्कान भी लाते जाएँ।
  • लेकिन सामने वाले को यह नहीं लगना चाहिये कि आप उसे घूर रहें हैं इसलिए सामने वाले के चेहरे पर भी देखें।

4- ड्रेसिंग सेंस को परफेक्ट रखें ! Perfect dressing sense!

Personality Development में Dressing Sense का Role भी बहुत Important है। ड्रेसिंग सेंस का मतलब है कपड़े पहनने का तरीका। आप किस मौके पर क्या पहनते हैं यह बहुत इम्पोर्टेन्ट है। जैसे किसी ऑफिसियल मीटिंग में जा रहे हैं उस वक़्त अगर आप कोई ऐसा कपड़ा पहन लेते हैं जिसमें पार्टी वियर का लुक आ रहा हो तो आपने गलत कपड़े पहने हैं। इसीलिए ड्रेसिंग सेंस इम्प्रूव करने के लिए इन कुछ बातों का ध्यान रखें –

  • उन लोगों को देखें जिनका ड्रेसिंग सेंस अच्छा है। भले ही आप उन्हें कॉपी न करें पर उनके ड्रेसिंग स्टाइल से सीखें। वह लोग कोई भी टीवी सेलिब्रटी, आपके बॉस आदि।
  • यदि आपको कपड़े की समझ नहीं है तो इसके लिए आप किसी की मदद ले सकते हैं जिन्हें ड्रेसिंग सेंस का नॉलेज हो।
  • भले ही कम कपड़े खरीद पर थोड़े Quality Wise कपड़े खरीदें।
  • अपने आपको फैशन के अनुसार अपडेट रखें।
  • ड्रेसिंग सेंस में कलर कॉम्बिनेशन का भी बहुत महत्त्व है। किस मौके पर कौन सा कलर पहनना है इसकी भी जानकारी जरूर लें।
  • कपड़े फिटिंग के पहने न ज्यादा टाइट और न ज्यादा लूज़।
  • यदि खरीदे हुए कपड़े फिट नहीं आते तो दर्जी से फिट ज़रूर कराए।
  • जूते भी कपड़े और मौके के हिसाब से पहनें।
  • ऐसी ड्रेस उप रखें जिससे आपका कॉन्फिडेंस बना रहे।

5- आशावादी रहें ! be hopeful !

हमेशा आशावादी रहना व्यक्तित्व विकास का ही हिस्सा है। आशावादी रहना एक मनोविज्ञानिक प्रक्रिया है। आशावादी रहना आपको अधिक लचीला बनता है। आप चुनौतियों का सामना करने में सक्षम होते हैं। अपने विचारों और काम दोनों में सकारात्मक रहें।

इसलिए व्यक्ति विकास के लिए आपको आशावादी होना जरूरी है। आशावादी रहने के लिए हमेशा सकारात्मक रहो। भविष्य को हमेशा सकारात्मकता से देखें। अवसर को पहचाने और उसका उपयोग करें। असवादी लोग असफलताओं से निराश नहीं होते बल्कि उन्हें अवसर के रूप में देखते हैं। विपरीत परिस्थिति में आशावादी लोग समाधान खोजने पर काम करते हैं।

6- अपने लुक पर भी ध्यान दें ! Pay Attention to your Look !

यहाँ लुक्स से रंग रूप का कोई भी मतलब नहीं है। लेकिन पर्सनालिटी डेवलपमेंट में ‘आप कैसे दिखते हैं’ इस बात का काफी फर्क पड़ता है। जैसे आपके कपड़े भले ही बहुत ब्रांडेड न हों लेकिन जब भी घर से बाहर निकलें साफ़ सुथरे प्रेस किये हुए कपडे पहने। आपके बाल सेट होने चाहियें , बाल ज्यादा बड़े नहीं होने चाहियें। अपने बालों को कंघी करें। आपके जूते पॉलिश होने चाहियें। महिलाएं ज्यादा मेकअप न करें। नाखून भी बड़े न रखें। कुल मिलाकर आपका लुक्स परफेक्ट होना चाहियें।

Read Also : बॉलीवुड से जुड़े अनसुने रोचक तथ्य | Interesting Bollywood Facts

7- लोगों के समक्ष अपनी बात जरूर रखें ! Make your point in front of people!

किसी सभा में, लोगों के ग्रुप में या ऑडियंस के सामने अपनी बात रखें या अपने विचार रखें। जब आप अपनी राय आत्मविश्वास के साथ रखते हैं, तब लोगों के सामने आप अधिक प्रभावशाली होते हैं। इसलिए लोगों की बातों को सुने और साथ ही अपनी बात जरूर रखें। भले ही कुछ लोग आपकी बात से संतुष्ट न हों लेकिन फिर भी अपनी स्वतंत्र राय जरूर रखें एवं खुद को विशेष और महत्वपर्ण प्रस्तुत करें।

8- नए नए लोगों से मिलें ! Meet New People !

नए नए लोगों से मिलना आपकी हिचकिचाहट को ख़त्म कर देता है। आप ज्यादा सीखते हैं, आपको अलग अलग संस्कृति और जीवन शैली को जानने के मौके मिलते हैं जिससे आपके व्यक्ति पर प्रभावशाली और सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। व्यक्तिगत विकास के लिए आप उन लोगों से मिले जो अपने अपने क्षेत्र में सफल हैं। विद्वान लोगों से मिलें। सकारात्मक दृष्टिकोण वाले लोगों से मिलें।

9- मेहनत करें और विनम्र रहें ! Work hard and be humble !

वो लोग ऊँचे व्यक्तित्व के होते हैं जो मेहनत करते हैं और विनम्र रहते हैं। ऐसे लोग जीवन में ऊंचाइयों पर पहुंचते हैं। इसलिए कड़ी मेहनत करें, धैर्य रखें और विनम्र रहें।

You may also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More