Inter-caste Marriage Promotion Scheme: सरकार द्वारा कई ऐसी योजनाएं लागू की जा रही हैं, जिनके बारे में अधिकांश लोगों को जानकारी नहीं है। इनमें से एक योजना है अंतर्जातीय विवाह प्रोत्साहन योजना। इसके अंतर्गत सरकार अंतर्जातीय विवाह करने वाले जोड़ों को आर्थिक सहायता प्रदान करती है। इस सहायता राशि 2.50 लाख रुपये तक हो सकती है।

अंतर्जातीय विवाह प्रमोशन स्कीम के लाभ का उपयोग करने के लिए विवाह प्रमाण पत्र आवश्यक होता है। इस योजना का लाभ सिर्फ उन व्यक्तियों को प्रदान किया जाएगा जो एक जाति से दूसरी जाति में विवाह करते हैं। अर्थात, यदि कोई व्यक्ति जनरल कैटेगरी से संबंधित है और वह किसी अन्य समुदाय में विवाह करता है, तो उसे इस योजना का लाभ मिलेगा।

शादी का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य

अंतर्जातीय विवाह प्रमोशन स्कीम के अंतर्गत, सरकार केवल उन जोड़ों को आर्थिक सहायता प्रदान करती है जिनमें से कम से कम एक पक्ष अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग या अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित है।

इस योजना में, विवाह का रजिस्ट्रेशन शादी के एक वर्ष के भीतर करना अनिवार्य है। दूसरी शादी करने वाले को इस योजना का लाभ नहीं मिलता। अगर गलत जानकारी प्रदान की जाती है, तो संबंधित पक्षों के खिलाफ नियमों के तहत दंड लगाया जाता है।

विवाह प्रमोशन स्कीम की आवेदन प्रक्रिया

  • अपने क्षेत्र के विधायक या सांसद के माध्यम से – आप अपने क्षेत्र के विधायक या सांसद के पास जाकर इस योजना के तहत आवेदन करा सकते हैं। वह आपका आवेदन
    संबंधित राज्य सरकार के समाज कल्याण विभाग में भेज देंगे
  • राज्य सरकार के समाज कल्याण विभाग में सीधे आवेदन करना – आप राज्य सरकार के समाज कल्याण विभाग में सीधे आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको संबंधितविभाग की वेबसाइट से आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना होगा और उसे भरकर संबंधित विभाग में जमा करना होगा।
  • जिला कार्यालय में आवेदन करना – आप अपने जिले के जिला कार्यालय में भी आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको संबंधित कार्यालय की वेबसाइट से आवेदन फॉर्म
    डाउनलोड करना होगा और उसे भरकर संबंधित कार्यालय में जमा करना होगा।

स्कीम में आवश्यक दस्तावेज

  • विवाह प्रमाण पत्र
  • दोनों पक्षों की जाति प्रमाण पत्र
  • दोनों पक्षों की उम्र का प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र

इस योजना के लिए आवेदन करते समय, आपको सुनिश्चित करना चाहिए कि आप सभी आवश्यक दस्तावेज़ सही तरीके से जमा कर रहे हैं। यदि आपके आवेदन में कोई भी कमी होती है, तो आपका आवेदन खारिज किया जा सकता है।

जरूर पढ़े :-    क्या शोएब मलिक से अलग होते ही सानिया मिर्जा ने मोहम्मद शमी से रचा ली शादी?

योजना की कुछ अतिरिक्त जानकारियाँ

  • इस योजना के तहत आर्थिक सहायता राशि का उपयोग शादी के खर्चों, घरेलू उपकरणों की खरीद या बच्चों की शिक्षा के लिए किया जा सकता है।
  • इस योजना के लिए आवेदन संबंधित राज्य सरकार के समाज कल्याण विभाग में किया जा सकता है।

 

Your Comments